HomeHealthHealth Tips: चावल की क्रेविंग को...

Health Tips: चावल की क्रेविंग को करना है शांत तो थाली में शामिल करें ब्लैक राइस, डायबिटिक मरीजों के लिए है बेहतरीन विकल्प

Health Tips: हमेशा ही डायबिटिक के मरीजों को चावल से परहेज करने की सलाह दी जाती है क्योंकि सफेद चावल में पाया जाने वाला Starchy Carbohydrates

खून में ग्लूकोस के स्तर को तेजी से बढ़ा देता है। लेकिन Black Rice ऐसा नहीं करता। बहुत से लोग इस बात से अनजान हैं कि

________________________
बिहार की सभी लेटेस्ट रोजगार समाचार और स्कॉलरशिप से अपडेटेड रहने के लिए इस ग्रुप में अभी जुड़े. (अगर आप टेलिग्राम नहीं चलाते हैं तो फेसबुक को फॉलो करें, ताकि बिहार की कोई नौकरी नोटिफिकेशन न छूटे)

Whatsapp GroupJoin Now
Follow FacebookJoin & Follow
Telegram GroupJoin Now

Black Rice डायबिटीज के रोगियों के लिए सफेद चावल की जगह एक Healthy Option है और वो इसे खुलकर खा सकते हैं।

चावल सभी भारतीयों की Diet का अभिन्न अंग है और हम सभी बचपन से ही अलग-अलग ग्रेवी के साथ रोटी की तुलना में चावल को खूब शौक से खाते रहे हैं।

यदि किसी को अचानक चावल खाने से मना कर दिया जाए तो सोचिए उसका क्या हाल हो सकता है।

Diabetic Patients को अक्सर मीठे खाद्य पदार्थों के अलावा फैट, ज्यादा नमक, तेल और कार्ब्स वाले खाद्य पदार्थों की मनाही होती है।

सफेद चावल में भारी मात्रा में Carbs पाए जाते हैं। इसलिए Doctor Diabetic Patients को इससे परहेज करने को कहते हैं।

आज हम इस खबर में आपको चावल का बेहतरीन विकल्प बताएंगे।

यदि आप Diabetic Patient हैं तो आप इसे रोज खाकर अपनी क्रेविंग भी शांत कर सकते हैं और साथ-साथ यह Blood Sugar भी काबू में रख सकते हैं।

वहीं, यदि आपको Diabetic नहीं है तो भी आप इसे सफेद चावल की जगह अपनी डेली डाइट में शामिल कर सकते हैं।

Black rice is a smart choice

आपने Smart Work-Hard Work की कहावत तो सुनी ही होगी, Diabetes की बीमारी में भी ये कहावत काफी हद तक फिट बैठती है।

वास्तव में इस बीमारी से लड़ने के लिए ये जरूरी नहीं है कि आप अपनी पसंद की सारी चीजें खाना छोड़ दें बल्कि स्मार्टनेस से काम लेते हुए

इसकी जगह अपनी पसंद की चीजों के Healthy Options को डाइट में शामिल करने पर फोकस करें।

इससे ना केवल आप अपना Blood Sugar काबू में कर सकते हैं बल्कि डायबिटीज के जोखिम को भी कम कर सकते हैं।

Black rice is the Best Option for Diabetic Patients

According to Health Experts, जब स्वास्थ्य और पोषण की बात आती है तो चावल को बहुत ज्यादा हेल्दी नहीं माना जाता।

भारतीय भोजन का अभिन्न हिस्सा होने के बावजूद Diabetic Patient अक्सर इसके सेवन से बचते हैं

क्योंकि इसमें Starchy Carbohydrates होता है जो भोजन के बाद खून में ग्लूकोस का स्तर को अचानक बढ़ा देता है लेकिन ब्लैक राइस ऐसा बिल्कुल नहीं करता।

बहुत से लोग इस बात से अनजान हैं कि Patients Diabetes के लिए ब्लैक राइस एक Healthy Option है।

Nutrients in Black Rice और चोकर की कई परतें होती हैं जबकि इसके उलट सफेद चावल स्टार्चयुक्त परतों का ही रूप होता है।

जिस वजह से सफेद चावल की तुलना में Black Rice ज्यादा बेहतर विकल्प है।

Diabetic Patients के लिए ब्लैक राइस बहुत फायदेमंद है. ये फाइबर और पोषक तत्वों से भरपूर होता है और साथ ही इसे Diabetic के Patients रोजाना भी खा सकते हैं।

Controls Blood Sugar

काले चावल में फाइबर और प्रोटीन बहुत अधिक होता है। ये ब्लड शुगर लेवल को काबू में रखने में महत्वपूर्ण रूप से मदद करता है।

वजन कम करने में सहायक

वजन बढ़ना आपकी Diabetes पर Negative Impact डाल सकता है। ये एक बहुत ही बड़ा कारण है कि डायबिटीज के रोगियों को सफेद चावल से बचने की सलाह दी जाती है।

वहीं दूसरी ओर काले चावल आपके वजन को संतुलित बनाए रखने में भी मदद कर सकते हैं।

Black Rice is Gluten Free

Patients के Diabetes को ग्लूटेन से बचने की सलाह दी जाती है क्योंकि इससे सूजन और पेट दर्द संबंधी कई परेशानियां हो सकती हैं। Black Rice Gluten Free होता है।

टाइप 2 डायबिटीज का रिस्क करता है कम

यदि आप Diabetes के Patients नहीं है तो भी आप Black Rice खा सकते हैं।

इसमें Fiber and Magnesium की मात्रा सबसे अधिक होती है। इससे आपके शरीर में ब्लड शुगर नियंत्रित रहता है जिससे आपको भविष्य में डायबिटीज से पीड़ित होने का खतरा कम होगा।

पोषण से भरपूर

काले चावल में पोषक तत्वों की मात्रा बहुत ही अधिक होती है। ये Protein, Fiber, Antioxidants and Many Vitamins and Minerals तत्वों से समृद्ध है।

नहीं है कोई बीमारी फिर भी खा सकते हैं ब्लैक राइस

ब्लैक राइस दिल के रोग और इसके जोखिम को कम करने में यह मददगार है। साथ ही इसमें पाए जाने वाले कैरोटेनॉयड्स की वजह से ये आंखों के लिए भी अच्छा है।

ये ग्लूटन-फ्री है इसलिए सीलिएक (इसमें लोगों को ग्लूटन से एलर्जी हो जाती है) रोगी भी इसका सेवन कर सकते हैं।

ये Fibre से भरपूर है इसलिए ये शरीर में Fat नहीं बढ़ने देता और मोटापे को कम करने में यह मदद करता है।

Black Rice का सेवन किसे नहीं करना चाहिए

काले चावल को आमतौर पर Healthy माना जाता है और वर्तमान में ऐसा कोई अध्ययन नहीं है जिसमें काले चावल खाने से किसी पर भी कोई बुरा असर हुआ हो।

हालांकि बहुत अधिक काले चावल का सेवन करने से आपको पेट में गड़बड़ी, गैस, सूजन जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

इसलिए Black Rice को संतुलित मात्रा में खाएं और अगर आपको पेट की कोई परेशानी है तो

उसे अपने आहार में शामिल करने से पहले अपने Doctor की सलाह जरूर लें।

________________________
सभी लेटेस्ट Sarkari Naukri अपडेट व अन्य News जानने के लिए इस व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़े.

Whatsapp GroupJoin Now

Related Article

Most Popular

Sarkari Naukri

Astrology

Sarkari Yojana

Life Style

error: Copyright © 2022 All Rights Reserved.