HomeBiharSmart Prepaid Meter: बिहार में स्मार्ट...

Smart Prepaid Meter: बिहार में स्मार्ट प्रीपेड मीटर वाले बिजली उपभोक्ताओं को बड़ा झटका, जाने डिटेल्स

Smart Prepaid Meter: बिहार में अब खपत के आधार पर अगर उपभोक्ता (Consumer) अपने कनेक्शन का लोड (Connection Load) नहीं बढ़ाते हैं

तो वह स्वयं बिजली कंपनी लोड को बढ़ा देगी और इसके बाद उपभोक्ता के मोबाइल पर इस बारे में मैसेज भेज दिया जाएगा.

________________________
बिहार की सभी लेटेस्ट रोजगार समाचार और स्कॉलरशिप से अपडेटेड रहने के लिए इस ग्रुप में अभी जुड़े. (अगर आप टेलिग्राम नहीं चलाते हैं तो फेसबुक को फॉलो करें, ताकि बिहार की कोई नौकरी नोटिफिकेशन न छूटे)

Whatsapp GroupJoin Now
Follow FacebookJoin & Follow
Telegram GroupJoin Now

Smart Prepaid Meter मे अधिक बिजली खपत होने की शिकायत के बाद बिजली कंपनी ने इस तरह की नई व्यवस्था तैयार की है।

बिजली कंपनी के अधिकारियों ने कहा कि Smart Pre-Paid Meter को लेकर उपभोक्ताओं (Consumers) की यह शिकायत थी

की पहले की तुलना में उनका बिजली बिल (Electricity Bill) अधिक हो जा रहा था।

रिचार्ज की राशि (Recharge Amount) काफी जल्दी खत्म होने की भी बात कही जा रही थी और इस बात की बिजली विभाग ने जब संबंधित एजेंसी के साथ सूक्ष्मता से जांच कराई तो

यह बात सामने आयी कि संबंधित उपभोक्ता (Consumer) ने बिजली कनेक्शन (Electricity Connection) के तहत जो लोड ले रखा है,

वह खपत के क्रम में यूनिट बढ़ जाने के कारण उसमें बढ़ोतरी हो रही है और 2-3 Kw (Kilowatt) का लोड बढ़कर कभी 4 और उससे भी अधिक हो जा रहा है.

ऐसा होने की वजह से उपभोक्ताओं को दंड का भुगतान करना पड़ जा रहा और उनकी रिचार्ज राशि (Recharge Amount) अचानक खत्म हो जा रही है।

बिजली विभाग ने निदान के तहत इस बात का प्रविधान किया था कि Smart Pre Paid Meter Consumers एक तय अवधि में

आवेदन देकर अपने लोड को बढ़ा लें और उक्त अवधि तक उन्हें किसी तरह की राशि दंड के रूप में नहीं देनी होगी.

उपभोक्ताओं ने जब इस बात में बहुत अधिक रूचि नहीं ली तो बिजली विभाग ने यह तय कर लिया कि Smart Pre Paid Meter के फीडबैक के आधार पर वह खुद संबंधित उपभोक्ता के लोड को बढ़ा देगी।

________________________
सभी लेटेस्ट Sarkari Naukri अपडेट व अन्य News जानने के लिए इस व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़े.

Whatsapp GroupJoin Now

Related Article

Most Popular

Sarkari Naukri

Astrology

Sarkari Yojana

Life Style

error: Copyright © 2022 All Rights Reserved.