HomeBiharOnline Food Order : यदि आप...

Online Food Order : यदि आप भी ऑनलाइन ऑडर कर मंगवाते हैं खाना, तो इसे जरूर पढ़ें…

Online Food Order : आप यदि Swiggy और Zomato से ये सोचकर ऑर्डर करते होंगे, कि चलो बैठे बिठाए खाना आ जाएगा।

ज्यादा से ज्यादा Delivery Charge ही तो देने पड़ेंगे। लेकिन आप शायद यह नहीं जानते कि डिलीवरी चार्ज के अलावा आपकी दूसरे तरीकों से भी जेब काटी जा रही है।

________________________
बिहार की सभी लेटेस्ट रोजगार समाचार और स्कॉलरशिप से अपडेटेड रहने के लिए इस ग्रुप में अभी जुड़े. (अगर आप टेलिग्राम नहीं चलाते हैं तो फेसबुक को फॉलो करें, ताकि बिहार की कोई नौकरी नोटिफिकेशन न छूटे)

Whatsapp GroupJoin Now
Follow FacebookJoin & Follow
Telegram GroupJoin Now

जी हां, अब हम आपको जो बताने जा रहे हैं, उसे सुनकर आपको झटका लग सकता है। जिन Restaurant का मैन्यू देखकर आप खाना Order कर रहे हैं वे आपसे वास्तविक कीमत से कई गुना ज्यादा कीमत वसूल रहे हैं।

यानी Restaurant में बैठकर खाना खाने वाला मैन्यू और उसी रेस्टोरेंट से Online Order करने वाले मैन्यू की कीमतों में बड़ा ही अंतर देखा गया है। हम हम नहीं बल्कि जेफरीज की एक Report कह रही है।

आठ शहरों में 80 Restaurant पर सर्वे करने पर यह सच्चाई निकलकर सामने आई है। रेस्टोरेंट 10 से 60 फीसद तक अधिक कीमत वसूल कर रहे हैं।

मनी 9 की रिपोर्ट के अनुसार बता दे कि ज्यादा मुनाफा कमाने के कारण Zomato और Swiggy जैसी Food Tech Companies का टेक रेट यानी टेक-आउट चार्ज बढ़ाया जाता है।

Food Delivery Platform पर 80% रेस्टोरेंट में से आधे से अधिक एक प्रीमियम चार्ज करते हैं जो 10-11% से कम है. वहीं, सवे 10 15%, KFC 10%, पिज्जा हट 5-6% और डोमिनोज़ 4% प्रीमियम वसूलते हैं।

आपको बता दें कि Aggregator Restaurant Commission Rate, एड सेल्स और कस्टमर डिलीवरी चार्ज से रेवेन्यू जुटाते रहते हैं।

टेक-आउट चार्जेस वह कमीशन हैं, जो रेस्टोरेंट अपनी Online Ordering Service माध्यम से डिलीवरी ऑर्डर को सक्षम करने के लिए स्विगी और ज़ोमैटो जैसे Aggregators को भुगतान करते हैं।

Aggregators Restaurant के लिए एक वेरियबल प्रॉफिट कमीशन रेट के साथ काम करते हैं। हालांकि, एग्रीगेटर्स पर अनाप-शनाप की बजाय एक सही मुनाफा सुनिश्चित करने का दबाव रहा है।

वहीं, लगभग आधे रेस्टोरेंट पैकिंग शुल्क भी लगाए जाते हैं, जो बिल का 4-5% है। इसके अलावा, प्लेटफ़ॉर्म ग्राहकों से डिलीवरी शुल्क भी लेते हैं, जो फिर से अनुमानित 13% की कुल Cost लेता है।

Analysts ने बताया कि छूट से पहले डिलीवरी ऑर्डर की Cost औसतन 27-28% अधिक होती है। इधर, जेफरीज का सुझाव है कि प्लेटफॉर्म 11% का एवरेज डिस्काउंट देते हैं।

यह नेट प्रीमियम बनाम मेन्यू की Cost को 17 फीसद तक कम करता है। जैसे-जैसे डिस्काउंट घटेगा वैसे वैसे अंतर कम होने की उम्मीद है।

Related Article

Most Popular

Sarkari Naukri

Astrology

Sarkari Yojana

Life Style

error: Copyright © 2022 All Rights Reserved.