HomeNewsMobile Recharge: मोबाइल रिचार्ज की कीमतों...

Mobile Recharge: मोबाइल रिचार्ज की कीमतों में 20% तक हो सकती है बढ़ोतरी, जानें डिटेल्स

Mobile Recharge Prices: 5G सर्विस को भारत में हाल ही में लॉन्च किया गया है और प्राइवेट टेलीकॉम कंपनियां, Airtel और Reliance Jio भी अपनी 5G सेवा की शुरूआत कर दी है।

बता दें कि 5G Service को कुछ ही शहरों में लॉन्च किया गया है और धीरे-धीरे बाकी शहरों में भी इसे जारी कर दिया जाएगा।

________________________
बिहार की सभी लेटेस्ट रोजगार समाचार और स्कॉलरशिप से अपडेटेड रहने के लिए इस ग्रुप में अभी जुड़े. (अगर आप टेलिग्राम नहीं चलाते हैं तो फेसबुक को फॉलो करें, ताकि बिहार की कोई नौकरी नोटिफिकेशन न छूटे)

Whatsapp GroupJoin Now
Follow FacebookJoin & Follow
Telegram GroupJoin Now

अगर आप एयरटेल ग्राहक हैं तो हमारे पास आपके लिए बड़ी खबर है. हम आपको बताने जा रहे हैं कि Airtel 5G इस्तेमाल करने के लिए आपको कितने पैसे खर्च करने होंगे, यानी की Airtel 5G Plans की कीमत कितनी होगी.

अगर आपको लगता है कि 4G के रेट में ही 5G प्लान मिल जाएगा और आप कुछ सेकंडों में पूरी मूवी डाउनलोड कर लेंगे, तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है।

अपने मोबाइल में 5G नेटवर्क उपयोग करने के लिए आपको 4G की तुलना में अधिक जेब ढीली करनी होगी.

इसका मतलब यह की 5G Service को शुरू करने के लिए मोबाइल कंपनियां अपने टैरिफ में 15 से 20 परसेंट तक का इजाफा कर सकती हैं।

5G रोलआउट में देरी:

टेलीकॉम कंपनियों ने 5G Service का रोलआउट शुरू कर दिया है और कई शहरों में दिवाली से पहले इसका Trial Run लॉन्च हो चुका है.

देश के 8 शहरों में यह सेवा शुरू है, हालांकि सबको सुविधा नहीं मिल रही बल्कि चुनिंदा ग्राहक ही इसका फायदा उठा पा रहे है और अब पूरे देश में 5G Service शुरू होने जा रही है जिस पर करोड़ों रुपये का खर्च आएगा।

इसके लिए कंपनियों ने लोन लिया है और निवेशकों से भी पैसे लिए है, माना जा रहा है कि 5G Service शुरू करने के लिए कंपनियों को 1.5 से 2 लाख करोड़ तक का निवेश करना होगा और यह काम बिना Loan, Investment और Tariff Hike के बिना संभव नहीं है।

क्या कहती है रिपोर्ट :

फिच रेटिंग की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि मोबाइल कंपनियां टैरिफ में 15 से 20 परसेंट की बढ़ोतरी कर सकती है.

इसके अलावा, JM Financial ने कहा है कि टेलीकॉम कंपनियां दो से तीन किस्तों में दरें बढ़ा सकती हैं ताकि ग्राहकों पर एकमुश्त बोझ न पड़े क्युकी बोझ पड़ने से ग्राहक इधर-उधर छिटक सकते हैं।

हाल के दिनों के बयानों पर गौर करें तो पता चलेगा कि हर टेलीकॉम कंपनी Tariff Hike के पक्ष में है और इस पर विचार किया जा रहा है।

ARPU बढ़ाने पर जोर :

हाल में Vodafone-Idea के CEO ने भी दरें बढ़ाने की वकालत की है और यह कंपनी भारी घाटे से गुजर रही है, लिहाजा इसके पास दरें बढ़ाने के सिवा कोई और रास्ता नहीं बचता.

कंपनी पर करोड़ों रुपये का लोन भी है जिसकी भरपाई करने पर ही 5G Service की शुरुआत हो सकेगी।

वैसे पिछली बढ़ोतरी नवंबर 2021 में हुई थी और पिछले साल 20 से 25 परसेंट तक दरें बढ़ी थीं.

अभी टेलीकॉम कंपनियों का ARPU 162 रुपये है और इसका अर्थ ये होता है कि टेलीकॉम कंपनी प्रति ग्राहक कितने रुपये की कमाई करती है और इसी को बढ़ाने की कवायद चल रही है साथ ही Postpaid Plan पर भी 20 परसेंट तक दरें बढ़ सकती हैं।

________________________
सभी लेटेस्ट Sarkari Naukri अपडेट व अन्य News जानने के लिए इस व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़े.

Whatsapp GroupJoin Now

Related Article

Most Popular

Sarkari Naukri

Astrology

Sarkari Yojana

Life Style

error: Copyright © 2022 All Rights Reserved.