HomeNewsSuccess Story: मां-बेटे ने एकसाथ PSC...

Success Story: मां-बेटे ने एकसाथ PSC परीक्षा पास कर किया मिशाल कायम, अब साथ करेंगे यह सरकारी नौकरी

Success Story कहा जाता हैं कि पढ़ने की कोई उम्र नहीं होती और सफलता उम्र की मोहताज नहीं होती। अगर पूरी लगन और ईमानदारी के साथ मेहनत की जाए तो कभी भी मुकाम हासिल किया जा सकता है।

इस बात को सही साबित कर दिखाया है। Keral के Mallapuram में रहने वाली 42 साल की Bindu ने। बिंदू ने 42 साल की उम्र में लोक सेवा आयोग (PSC) की परीक्षा Clear की है।

________________________
बिहार की सभी लेटेस्ट रोजगार समाचार और स्कॉलरशिप से अपडेटेड रहने के लिए इस ग्रुप में अभी जुड़े. (अगर आप टेलिग्राम नहीं चलाते हैं तो फेसबुक को फॉलो करें, ताकि बिहार की कोई नौकरी नोटिफिकेशन न छूटे)

Whatsapp GroupJoin Now
Follow FacebookJoin & Follow
Telegram GroupJoin Now

बल्कि इतना ही नहीं उनके साथ उनके 24 साल के बेटे ने भी ये परीक्षा को पास की है। यानी की अब मां और बेटा दोनों ही सरकारी नौकरी में शामिल हो रहे हैं।

बेटे को पढ़ाने के लिए शुरू की थी तैयारी

आपको बता दे कि जानकारी के मुताबिक, Bindu का बेटा जब दसवीं कक्षा में था, तब उसे पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करने के वास्ते उन्होंने किताबो को पढ़ना शुरू किया था,

लेकिन इसने उन्हें केरल लोक सेवा आयोग (PSC) की परीक्षा की तैयारी करने के लिए प्रेरित किया। Bindu ने एक TV Channel पर बताया कि उन्होंने ‘लास्ट ग्रेड सर्वेंट’ (LDS) परीक्षा पास की है।

और उनकी 92वीं Rank आई है जबकि उनके 24 वर्षीय बेटे Vivek ने अवर श्रेणी लिपिक (LDC) की परीक्षा पास की है और उनकी 38 वीं Rank आई है।

एक ही कोचिंग में की दोनों ने पढ़ाई

उन्होंने बताते हुए कहा कि उन्होंने शुरुआत अपने बेटे को पढ़ाई के लिए प्रोत्साहित करने के लिए की थी और इससे उन्हें प्रेरणा मिली तथा साथ ही उन्होंने एक कोचिंग केंद्र में दाखिला लिया जहां उन्होंने अपने बेटे का भी दाखिला कराया जब वो Graduate हो चुका था।

Bindu ने बताया कि LGS के लिए दो बार और LDC के लिए एक बार कोशिश की और उनका चौथा प्रयास सफल रहा। उन्होंने बताया कि उनका गोल ICDS पर्यवेक्षक परीक्षा थी और LGS परीक्षा पास करना एक ‘Bonus’ मिला है।

10 साल से आंगनबाड़ी शिक्षिका हैं Bindu

Bindu करीबन पिछले 10 साल से आंगनबाड़ी शिक्षिका रही हैं। Bindu ने बताया कि PCS परीक्षा पास करने की बार-बार की कोशिश में Coaching Centre के उनके शिक्षकों,

उनके दोस्तों और उनके बेटे ने उन्हें प्रोत्साहित किया और साथ ही समर्थन दिया। उनके बेटे ने TV Channel से कहा कि वे दोनों एक साथ पढ़ाई नहीं करते थे, लेकिन वे कुछ विषयों पर चर्चा करते थे।

उसने कहा, ‘मैं अकेले ही पढ़ाई करना पसंद करता हूं। इसके अलावा, मां हमेशा पढ़ाई नहीं करती हैं। वो समय मिलने पर और आंगनबाड़ी की Duty करने के बाद ही पढ़ाई करती हैं।’

Related Article

Most Popular

Sarkari Naukri

Astrology

Sarkari Yojana

Life Style

error: Copyright © 2022 All Rights Reserved.