HomeIndiaPostal Department: पोस्ट ऑफिस के खाताधारकों...

Postal Department: पोस्ट ऑफिस के खाताधारकों के लिए अच्छी खबर ! बदल गया है ट्रांजेक्शन से जुड़ा ये बड़ा नियम, जानिए आप पर क्या होगा असर?

Post Office Saving Schemes: Postal Department के ग्राहकों के लिए काम की खबर है. पोस्ट ऑफिस ने Transaction संबंधी कई नियमों में बदलाव किया है.

Postal Department ने पोस्ट ऑफिस की बचत योजनाओं (Post Office Savings Schemes ) में पैसा निकालने की लिमिट बढ़ा दिया है।

________________________
बिहार की सभी लेटेस्ट रोजगार समाचार और स्कॉलरशिप से अपडेटेड रहने के लिए इस ग्रुप में अभी जुड़े. (अगर आप टेलिग्राम नहीं चलाते हैं तो फेसबुक को फॉलो करें, ताकि बिहार की कोई नौकरी नोटिफिकेशन न छूटे)

Whatsapp GroupJoin Now
Follow FacebookJoin & Follow
Telegram GroupJoin Now

इससे Post Office Savings Schemes बाकी के बैंकों से मुकाबला कर पाएंगे और लंबी अवधि (Long Term) में Post Office Deposits बढ़ेगा.

एक दिन में 20000 रुपए तक निकाल सकेंगे:

ग्रामीण डाक सेवा की ब्रांच में अब Account Holders एक दिन में 20,000 रुपये तक निकाल सकेंगे, पहले ये लिमिट 5,000 रुपये ही थी।

इसके अलावा कोई भी Branch Post Master (BPM) एक दिन में एक खाते में 50,000 रुपये से ज्यादा जमा लेन-देन को स्वीकार नहीं करेगा।

मतलब ये कि एक दिन में एक खाते में 50,000 रुपये से ज्यादा का कैश लेन-देन नहीं किया जा सकता है।

PPF, KVP, NSC के बदलेंगे नियम:

नए नियमों के मुताबिक Savings Account के अलावा अब सार्वजनिक भविष्य निधि (Public Provident Fund), वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (Senior Citizen Savings Scheme),

मासिक आय योजना (Monthly Income Scheme), किसान विकास पत्र (Kishan Vikas), राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (National Saving Certificate) योजनाओं में जमा चेक के जरिए स्वीकार या Withdrawl Form के जरिए किया जाएगा।

मिनिमम बैलेंस कितना जरूरी?

आपको बता दें कि Post Office Saving Scheme पर 4 परसेंट सालाना ब्याज मिलता है, पोस्ट ऑफिस में खोले गए बचत खाते के लिए Minimum Bal. 500 रुपये रखना जरूरी है।

अगर आपके खाते में 500 रुपये से कम रकम हुई तो खाता रख-रखाव फीस के रूप में 100 रुपये काट लिए जाएंगे।

Related Article

Most Popular

Sarkari Naukri

Astrology

Sarkari Yojana

Life Style

error: Copyright © 2022 All Rights Reserved.