HomeBiharPM Awas Yojana 2022: मुखिया व...

PM Awas Yojana 2022: मुखिया व आवास सहायक का पावर हुआ खत्म, अब इन्हें मिला पावर, जाने डिटेल्स

PM Awas Yojana 2022: प्रधानमंत्री आवास योजना, ग्रामीण से जुड़े कार्यों का निरीक्षण अब जीविका की दीदियां भी करेंगी.

साथ ही इसके लिए इन्हें जिलों में प्रशिक्षण भी दिया जाएगा. प्रशिक्षण कार्य की Monitoring जिला उप विकास आयुक्त (DDC) करेंगे.

________________________
बिहार की सभी लेटेस्ट रोजगार समाचार और स्कॉलरशिप से अपडेटेड रहने के लिए इस ग्रुप में अभी जुड़े. (अगर आप टेलिग्राम नहीं चलाते हैं तो फेसबुक को फॉलो करें, ताकि बिहार की कोई नौकरी नोटिफिकेशन न छूटे)

Whatsapp GroupJoin Now
Follow FacebookJoin & Follow
Telegram GroupJoin Now

आवास निर्माण को अब तेज गति से पूरा करने और लाभुकों को सहयोग प्रदान करने के मकसद से ग्रामीण विकास विभाग ने यह कड़ा निर्णय लिया है.

इसको लेकर विभाग के सचिव बालामुरूगन डी. जी ने सभी जिलाधिकारियों को पत्र जारी किया है। विभाग ने यह भी बताया है कि राज्य की 8067 ग्राम पंचायतों में से 5792 में ग्रामीण आवास सहायक कार्यरत हैं.

शेष 2275 ग्राम पंचायतों में ग्राम संगठन सदस्य (जीविका दीदी) को इस कार्य के लिए लगाया जाएगा. इसके लिए दीदियों को सेवा शुल्क के रूप में राशि भी Provide की जाएगी, जिसका निर्धारण भी विभाग ने कर दिया है.

वर्तमान में कई ग्रामीण आवास सहायकों को एक से अधिक पंचायतों की जिम्मेदारी मिली है, जिसके कारण से निरीक्षण में बहुत ही विलंब होता है.

इसी को देखते और समझते हुए सहायकों के रिक्त पदों पर जीविका दीदियों को लगाया जाएगा. इसके लिए इन्हें आवास योजना के तकनीकी बिंदुओं का प्रशिक्षण दिया जाएगा.

कौन जीविका दीदियां इस प्रशिक्षण के लिए चयनित होंगी, इसका निर्धारण ग्राम संगठन के अध्यक्ष के द्वारा किया जाना है.

इसके बाद संगठन के माध्यम से इसकी सूचना प्रखंड परियोजना प्रबंधक को दी जाएगी, जो की इसकी सूची प्रखंड विकास पदाधिकारी को सौप दिए जाएंगे.

मालूम होता है कि अभी राज्य में दस लाख से अधिक आवासों का निर्माण उक्त योजना के अंतर्गत इसी ही साल कराया जाना है.

प्रति आवास 500 मिलेंगे :

प्रति आवास पूर्ण कराने पर जीविका दीदी को 500 रुपये बतौर सेवा शुल्क उन्हें दिया जाएगा. आवास की स्वीकृति मिलने के तीन माह में कोई घर पूर्ण होता है,

तो उसमे संबंधित दीदी को 500 रुपये व प्रोत्साहन राशि अलग से दी जाएगी. इसके लिए ग्राम संगठनों के माध्यम से हर माह पूर्ण आवास की विवरणी प्रखंड विकास पदाधिकारी को दी जाएगी. ग्राम संगठनों द्वारा किये गये कार्यों की समीक्षा DDC द्वारा किया जाएगा.

क्या होगा दीदियों का काम:

आवास योजना के लाभुकों से दस्तावेजों की प्राप्ति, साथ ही किस्त भुगतान के लिए लाभुकों से आवेदन की प्राप्त करना और आवास सॉफ्ट पर लाभुकों का निबंधन करना आदि कार्यों की जानकारी दी जाएगी.

जो लाभुक किस्त प्राप्त कर चुके हैं और वह आवास निर्माण नहीं करा रहे हैं, उनसे मिलकर उन्हें निर्माण में तेजी लाने के लिए जीविका दीदियां प्रेरित भी करेंगी. इन सभी कार्यों की ही इन्हें पहले प्रशिक्षण दिया जाएगा.

Related Article

Most Popular

Sarkari Naukri

Astrology

Sarkari Yojana

Life Style

error: Copyright © 2022 All Rights Reserved.