HomeEarn MoneyVillage Business Ideas: पेड़ के पत्ते...

Village Business Ideas: पेड़ के पत्ते बेचकर एक साल में 630 करोड़ रुपयों की हुई कमाई, जानिए कैसे

Village Business Ideas: आप भी घर बैठे अपने गांव से अपने व्यापार (Business) की शुरआत करना चाहते हैं तो आपके लिए एक बड़ी खुशखबरी है.

रोजगार (Employment) की इच्छा रखने वाले युवक ने पेड़ के पत्ते (Tree Leaves) बेचकर साल में करीब 630 करोड़ रुपए की कमाई की है.

________________________
बिहार की सभी लेटेस्ट रोजगार समाचार और स्कॉलरशिप से अपडेटेड रहने के लिए इस ग्रुप में अभी जुड़े. (अगर आप टेलिग्राम नहीं चलाते हैं तो फेसबुक को फॉलो करें, ताकि बिहार की कोई नौकरी नोटिफिकेशन न छूटे)

Whatsapp GroupJoin Now
Follow FacebookJoin & Follow
Telegram GroupJoin Now

इसके साथ ही उसने 12 लाख से अधिक लोगों को रोजगार भी दिया है, छत्तीसगढ़ के सरकार (Chattisgarh Government) ने एक बड़ा दावा किया है.

सरकार (Goverment) का दावा है कि चालू वित्तीय वर्ष (Financial Year) 2022 के दौरान 15 लाख 78 हजार मानक बोरा तेन्दूपत्ता (Standard Stack of Tendup Leaves) का संग्रह हुआ है.

जो लक्ष्य (Target) का 94% से अधिक है, यह संग्रह (Collection) बीते वर्ष की तुलना में 21% अधिक है।

इनमें 12 लाख से अधिक तेंदूपत्ता (Tendup Leaves) को कुल 630 करोड़ रुपये की कमाई हुई है. जिस राशि का भुगतान राज्य शासन (State Government) द्वारा किया जाता है.

सरकार (Govermment) का दावा यह है कि तेन्दूपत्ता संग्रहाकों (Tendup Leaves Collector) को उनके भुगतान योग्य राशि का भुगतान तेजी से जारी किया जा रहा है।

दावा ये किया जा रहा है कि राज्य (State) में तेंदूपत्ता संग्रहण (Tendup Leaves Collection) से आदिवासी-वनवासी संग्राहकों को रोजगार के साथ-साथ आय का भी भरपूर लाभ मिल रहा है।

सरकार द्वारा पेश किए गए एक आंकड़े (Statistics) के मुताबिक राज्य में वर्ष 2020 में 9 लाख 73 हजार मानक बोरा (Standard Stack) और वर्ष 2021 में 13 लाख 6 हजार मानक तेन्दूपत्ता का संग्रहण (Collection) हुआ था.

पिछले वर्ष (Last Year) की तुलना में वर्ष 2022 के दौरान तेन्दूपत्ता संग्रहण (Tendup Collection) में लगभग 21 प्रतिशत की वृद्धि (Growth) दर्ज की गई है।

बस्तर के इन जिलों से संग्रहण:

राज्य लघु वनोपजवनोपज (State Minor Forest Produce) संघ से मिली जानकारी (Information) के मुताबिक अब तक जगदलपुर वनवृत्त (Forest Cover) के अंतर्गत वनमंडल (Forest Department) बीजापुर में 52 हजार संग्राहकों (Collectors)

द्वारा 32 करोड़ रुपये के 80 हजार 324 मानक बोरा (Standard Stack), सुकमा में 44 हजार संग्राहकों द्वारा 40 करोड़ रुपये के एक लाख मानक बोरा, दंतेवाड़ा में 20 हजार 323 संग्राहकों (Collectors)

द्वारा 8 करोड़ रुपये के 19 हजार 408 मानक बोरा (Standard Stack) तथा जगदलपुर में 43 हजार 178 संग्राहकों द्वारा 6.56 करोड़ रुपयों के 16 हजार 396 मानक बोरा तेन्दूपत्ता (Standard Stack Tendup Leaves) का संग्रहण (Collection) किया गया है।

इसी तरह कांकेर वनवृत्त (Forest Cover) के अंतर्गत वनमंडल (Forest Department) दक्षिण कोण्डागांव में 33 हजार 843 संग्राहकों द्वारा 6.93 करोड़ रुपये के 17 हजार 332 मानक बोरा.

केशकाल में 35 हजार संग्राहकों द्वारा 10.45 करोड़ रुपये के 26 हजार 118 मानक बोरा, नारायणपुर में 16 हजार 738 संग्राहकों द्वारा 9.61 करोड़ रुपये के 24 हजार मानक बोरा (Standard Stack)

पूर्व भानुप्रतापपुर में 32 हजार संग्राहकों द्वारा 38.48 करोड़ रुपये के 96 हजार 195 मानक बोरा, पश्चिम भानुप्रतापपुर में 33 हजार संग्राहकों द्वारा 31.62 करोड़ रुपये के 79 हजार 058 मानक बोरा,

तथा कांकेर में 33 हजार 928 संग्राहकों द्वारा 14.82 करोड़ रुपये के 37 हजार 047 मानक बोरा तेन्दूपत्ता का संग्रहण (Collection) किया गया है।

इसके अलावा बिलासपुर, दुर्ग, रायपुर, सरगुजा संभाग के विभिन्न जिलों (Various District) से भी तेंदूपत्ता का संग्रहण किया गया है।

Related Article

Most Popular

Sarkari Naukri

Astrology

Sarkari Yojana

Life Style

error: Copyright © 2022 All Rights Reserved.