HomeAstrologyKartik Purnima 2022 : कोसों दूर...

Kartik Purnima 2022 : कोसों दूर चला जाएगा दुर्भाग्य कार्तिक पूर्णिमा पर तुलसी की मिट्टी से कर लें ये छोटा-सा काम

Kartik Purnima Remedies: शास्त्रों में कार्तिक माह का विशेष महत्व है। इस महीना में किया गया पूजा पाठ भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी को प्रसन्न करता है। इस माह में Tulsi Puja का भी खास महत्व है।

Kartik Month की समापन कार्तिक पूर्णिमा का दिन होता है। इस दिन भगवान विष्णु की कृपा पाने और उन्हें प्रसन्न करने के लिए ज्योतिष शास्त्र में कई तरह के उपायों का जिक्र भी किया गया है। बता दें कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु ने मत्स्य अवतार धारण किये थे।

________________________
बिहार की सभी लेटेस्ट रोजगार समाचार और स्कॉलरशिप से अपडेटेड रहने के लिए इस ग्रुप में अभी जुड़े. (अगर आप टेलिग्राम नहीं चलाते हैं तो फेसबुक को फॉलो करें, ताकि बिहार की कोई नौकरी नोटिफिकेशन न छूटे)

Whatsapp GroupJoin Now
Follow FacebookJoin & Follow
Telegram GroupJoin Now

हिंदू पंचांग के अनुसार इस बार कार्तिक पूर्णिमा 8 November 2022 के दिन पड़ रहा है। इस दिन सिखों में इसे Guru Nanak Jayanti के नाम से भी जाना जाता है। बता दें कि कार्तिक पूर्णिमा पर Ganga Bath का विशेष महत्व है।

अगर आप किसी Holy River में स्नान नहीं कर सकते, तो नहाने के पानी में GangaJal मिलाकर स्नान करने की सलाह दी जाती है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जीवन में धन, ऐश्वर्या, भाग्य की प्राप्ति के लिए Kartik Purnima पर कुछ उपायों के बारे में बताया गया है।

कार्तिक पूर्णिमा पर करें ये उपाय

मान्यता है कि कार्तिक पूर्णिमा पर मां लक्ष्मी भक्तों के घर में वास करती है। ऐसे में धन की देवी को प्रसन्न करने और उनके स्वागत के लिए मुख्य द्वार पर

हल्दी से स्वास्तिक का चिन्ह बनाएं और आम के पत्तों से तोरण बना कर मुख्य द्वार पर लटकाएं। इससे मां लक्ष्मी प्रसन्न होकर सुख-समृद्धि का आशीर्वाद देती हैं।

मान्यता है कि इस दिन किसी पवित्र में कुशा स्नान करना चाहिए। इससे व्यक्ति को सौभाग्य की प्राप्ति होती है और दुर्भाग्य से छुटकारा मिल जाता है।

बता दें कि कुशा स्नान के लिए एक कुशा हाथ में लेकर पवित्र नदी में स्नान करना चाहिए। इस दिन दान का विशेष महत्व भी बताया गया है। इससे आरोग्यता का आशीर्वाद मिलता है।

इस दिन Tulsi के पौधे के पास दीपक जलाएं। इससे भगवान विष्णु के साथ मां लक्ष्मी की कृपा भी प्राप्त होती है। साथ ही, Tulsi के पौधे की जड़ से मिट्टी लेकर उसका तिलक लगाएं।

ऐसा करने से व्यक्ति को सभी कार्यों में Success मिलती है और भगवान विष्णु प्रसन्न होकर भक्तों की सभी मनोकामनाएं को पूर्ण करते हैं।

Astrology के अनुसार कार्तिक पूर्णिमा (Full Moon) के दिन भगवान शिव का खास पूजन किया जाता है। इस दिन भगवान शिन को दूध, दही, घी, शहद और

Gangajal से बने पंचामृत आदि अर्पित किया जाता है। साथ ही, उन्हें बेलपत्र भी अर्पित करें। इससे भगवान शिव भी प्रसन्न होते हैं। भक्तों पर जमकर कृपा भी बरसाते हैं।

________________________
सभी लेटेस्ट Sarkari Naukri अपडेट व अन्य News जानने के लिए इस व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़े.

Whatsapp GroupJoin Now

Related Article

Most Popular

Sarkari Naukri

Astrology

Sarkari Yojana

Life Style

error: Copyright © 2022 All Rights Reserved.